Shishunag Dynasty

शिशुनाग वंश का इतिहास(History of Shishunag Dynasty) संस्थापक -शिशुनाग शासन काल- 412 ईसा पूर्व से 345 ईसा पूर्व के मध्य (इसका काल लगभग पाँचवीं ई. पू. स- चौथी शताब्दी के मध्य तक का है।)  राजधानी -गिरिव्रज या राजगीर  शिशुनाग वंश के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य:-> 1. शासनकाल बिम्बिसार और अजातशत्रु (बुद्ध के समकालीन) के बाद का था।  … Read more

Haryanka Dynasty|हर्यक वंश

हर्यक वंश  हर्यक वंश (544 ई. पू. से 412 ई. पू. तक) स्थापना बिम्बिसार (544 ई. पू. से 493 ई. पू.) ने की थी। इसके साथ ही राजनीतिक शक्ति के रूप में बिहार का सर्वप्रथम उदय हुआ था। बिम्बिसार को मगध साम्राज्य का वास्तविक संस्थापक माना जाता है। उसने गिरिव्रज (राजगीर) को अपनी राजधानी बनाया … Read more

Harshavardhan’S Kingdom(590-647CE)

हर्ष और उसका काल( HARSHAvardhan’S KINGDOM-590-647CE) Ø  वल्लभी में मैत्रकों ने स्वतंत्र वंश की स्थापना की. Ø  स्थानेश्वर (या थानेश्वर) (यह शहर दिल्‍ली के उत्तर में कुरुक्षेत्र केवर्तमान हरियाणा राज्य में था) में पुष्यभूति वंश के वर्धन शासकों का राज्य उठ खड़ा हुआ. Ø  कन्नौज में मौखरी, बंगाल में चंद्रशासक ओर मगध में गुप्तों की … Read more

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

EduInfoshare will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.